Bihar Krishi Clinic Yojana | बिहार कृषि क्लिनिक योजना

Bihar Krishi Clinic Yojana देश में किसानों की आय बढ़ाने और फसलों के उत्पादन और उत्पादकता को बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा कई प्रयास किए जा रहे हैं। और अब इस दिशा में बिहार सरकार ने किसानों को फसल से संबंधित किसी भी समस्या के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा. साथ ही किसानों को खेती के काम में कई तरह की सुविधाएं मिल सकेंगी. इसके लिए बिहार सरकार कृषि क्लिनिक योजना शुरू करने जा रही है. अभी तक इंसानों और जानवरों के लिए क्लीनिक थे, लेकिन अब ब्लॉक स्तर पर कृषि क्लीनिक के जरिए किसानों को एक ही छत के नीचे कृषि से जुड़ी सभी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी. जिससे किसानों को फसल से जुड़ी समस्याओं का समाधान मिल सकेगा.

कृषि क्लिनिक योजना के तहत कितने ब्लॉकों में कृषि क्लिनिक की स्थापना होगी और कृषि क्लिनिक की स्थापना के लिए सरकार कितना अनुदान देगी? इन सभी से जुड़ी जानकारी के लिए आपको इस आर्टिकल को अंत तक विस्तार से पढ़ना होगा। क्योंकि आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बिहार कृषि क्लिनिक योजना 2024 से संबंधित पूरी जानकारी प्रदान करेंगे।

Mukhyamantri Bal Gopal Yojana 

बिहार कृषि क्लिनिक योजना क्या है?

बिहार सरकार ने कृषि क्लिनिक योजना की शुरुआत करके किसानों को फसल उत्पादन से संबंधित सभी सेवाएं एक स्थान पर उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। इस योजना के माध्यम से किसानों को विभिन्न क्षेत्रों में साझा करने के लिए स्थानीय स्तर पर कृषि सेवाएं मिलेंगी। यह योजना केवल किसानों को ही नहीं, बल्कि रोजगार के अवसरों को भी बढ़ावा देने का एक प्रयास है। सरकार इस योजना के तहत युवाओं को कृषि क्लिनिक खोलने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करेगी।

बिहार सरकार ने 2023-24 वित्तीय वर्ष में कृषि क्लिनिक योजना के लिए 424 लाख रुपए का बजट स्वीकृत किया है। इसका उद्देश्य राज्य में फसलों के उत्पादन और उत्पाद की गुणवत्ता में सुधार करना है। यह सुनिश्चित करेगा कि किसानों को अधिक आय प्राप्त हो, और वह आत्मनिर्भर बन सकें।

कृषि क्लिनिक योजना के माध्यम से, किसानों को फसलों के संरक्षण, उन्नत खेती तकनीक, बाजार पहुंच, और फसलों की गुणवत्ता में सुधार की जानकारी प्रदान की जाएगी। इससे किसान अपनी खेती में सफलता प्राप्त करने के लिए समर्थ होंगे और स्थानीय अर्थव्यवस्था को भी बढ़ावा मिलेगा। इसके परिणामस्वरूप, यह योजना बिहार के कृषि सेक्टर को मजबूती प्रदान करेगी और रोजगार के अवसरों को भी बढ़ावा देगी।

Rajasthan Ekal Dwiputri Yojana 

Bihar Krishi Clinic Yojana 2024 के बारे में जानकारी

योजना का नाम Bihar Krishi Clinic Yojana
शुरू की गई बिहार सरकार द्वारा
संबंधित विभाग कृषि विभाग बिहार सरकार
लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य किसानों को कृषि क्लीनिक में फसल उत्पादन से संबंधित सभी सेवाएं और  किसानों की आमदनी में सुधार करना
लाभकृषि क्लीनिक की स्थापना के लिए अनुदान और किसानों को कीटनाशकों पर अनुदान
राज्यबिहार 
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च होगी 

NREGA MIS Report

Krishi Clinic Yojana का उद्देश्य

बिहार सरकार ने कृषि क्लिनिक योजना की शुरुआत का मुख्य उद्देश्य रखा है ताकि राज्य के किसानों को कृषि क्लीनिकों में फसल उत्पादन से संबंधित सभी आवश्यक सेवाएं मिल सकें। इस योजना के अंतर्गत, किसानों को मिट्टी जांच, बीज विश्लेषण, कीट व्याधि प्रबंधन के सुझाव, पौधा संरक्षण और छिड़काव हेतु उपकरणों और तकनीकी जानकारी स्थानीय स्तर पर प्रदान की जाएगी।

इसके लिए, बिहार सरकार ने निर्णय लिया है कि राज्य के सभी 101 अनुमंडलों में कृषि क्लीनिक की स्थापना की जाएगी। इससे किसानों को अधिक जगह से फसलों के उत्पादन और उत्पादकता से जुड़ी विवेचना और सहायता मिलेगी।

कृषि क्लीनिक योजना के माध्यम से, किसानों को उच्च गुणवत्ता वाले खेती तकनीक के लिए तैयार करने के लिए सुचना, समर्थन और सलाह प्रदान की जाएगी। इससे न केवल उनकी आय में वृद्धि होगी, बल्कि वे बेहतर रोपण और प्रबंधन तकनीकों का भी सही तरीके से उपयोग कर सकेंगे। इस योजना के माध्यम से राज्य के कृषि सेक्टर को सुधारित करने और स्थानीय किसानों को बेहतर उत्पादन के लिए सशक्त करने का प्रयास किया जा रहा है।

Aadhar Bank Account Link Status 

कृषि क्लीनिक खोलने के लिए सरकार देगी सहायता

बिहार कृषि क्लिनिक योजना के तहत, बिहार सरकार द्वारा कृषि क्लिनिक स्थापना के लिए सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत कृषि क्लिनिक स्थापना की लागत का कुल अनुमानित खर्च 5 लाख रुपए है, जिसमें सरकार द्वारा 40% या अधिकतम 2 लाख रुपए की सहायता अनुदान के रूप में प्रदान किया जाएगा। शेष राशि को लाभार्थी को स्वयं बोझना होगा।

कृषि क्लिनिक योजना के तहत चयनित लाभार्थियों को बैंक से ऋण की सुविधा भी मिलेगी, जिससे वे अपने कृषि क्लिनिक की स्थापना के लिए आवश्यक सामग्री और सुविधाएं प्राप्त कर सकें। सरकार द्वारा चयनित लाभार्थियों को कृषि क्लिनिक स्थापना के लिए निशुल्क प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाएगा, जिससे उन्हें अच्छी तकनीकी जानकारी मिलेगी।

इसके साथ ही, लाभार्थियों को उनकी इच्छा के अनुसार बीज, कीटनाशक लाइसेंस, उर्वरक, और कस्टम हायरिंग सेंटर जैसी योजनाओं से भी लाभ होगा। इसका मकसद है कि वे अपने कृषि क्लिनिक को सफलता से संचालित कर सकें और कृषि सेक्टर में नई ऊर्जा और सुधार ला सकें।

202 प्रखंडों में खोले जाएंगे कृषि क्लिनिक

कृषि क्लिनिक योजना के कार्यान्वयन के लिए, सरकार ने तय किया है कि राज्य के सभी 101 अनुमंडलों में कृषि क्लीनिक खोले जाएंगे। प्रत्येक अनुमंडल में 2 प्रखंडों में कृषि क्लीनिक स्थापित की जाएगी, जिससे कुल मिलाकर बिहार राज्य में 202 प्रखंडों में कृषि क्लीनिक होंगे। इसके अंतर्गत, एक कृषि क्लीनिक को अनुमंडल के प्रखंड मुख्यालय में स्थापित किया जाएगा, और दूसरा किसी चयनित प्रखंड मुख्यालय में क्लिनिक की स्थापना की जाएगी।

इस योजना के माध्यम से, ग्रामीण स्तर पर 202 युवाओं को रोजगार का अवसर प्राप्त होगा। ये युवा कृषि क्लीनिकों की स्थापना, प्रबंधन, और उनकी सफल चालन में सक्षम बनेंगे और इसके माध्यम से अपने गाँवों में कृषि सेवाएं प्रदान करेंगे। इससे ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार की स्थिति में सुधार होगा और कृषि सेक्टर को बढ़ावा मिलेगा। यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों में स्वावलंबी युवा पीढ़ी को प्रेरित करने का एक महत्वपूर्ण कदम है।

किसानों को फसलों में दवा छिड़काव के लिए मिलेगा अनुदान

किसानों को कीटनाशकों पर अनुदान उपलब्ध कराने के लिए, राज्य सरकार ने एक सशक्त और सुगम नया योजना शुरू की है। इस योजना के तहत, किसानों को फलदार वृक्षों जैसे आम, लीची, अमरूद में लगने वाले कीट से बचाव के लिए सेवा प्रदाता के माध्यम से छिड़काव के लिए 75% अनुदान प्रदान किया जाएगा। इससे किसानों को आर्थिक सहारा मिलेगा और वे अपनी फसलों को कीटों से बचा सकेंगे।

इसके अलावा, विभिन्न फसलों में कीट प्रबंधन के लिए 75% अनुदान प्रदान किया जाएगा। इसमें फेरोमोन ट्रैप, लाइफ टाइम ट्रैप, और स्टीकी ट्रैप शामिल हैं। किसानों को अधिकतम 2 हेक्टेयर और टाल क्षेत्र में 5 हेक्टेयर के लिए इस योजना के अनुदान का लाभ मिलेगा। यह सुनिश्चित करेगा कि किसान अच्छी तकनीक से कीटों का प्रबंधन कर सकता है और उसकी फसलें सुरक्षित रहें। इस योजना से किसानों को साथ में उच्च उत्पादकता और आर्थिक समृद्धि की दिशा में मदद मिलेगी।

बिहार कृषि क्लिनिक योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • बिहार सरकार द्वारा राज्य के किसानों को कृषि की सभी क्रियाओं की समस्त सुविधाएं एक ही छत के नीचे उपलब्ध कराने के लिए कृषि क्लिनिक योजना को शुरू किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य में किसानों को प्रखंड स्तर पर खेती बाड़ी के कामों से संबंधित विभिन्न सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी।
  • राज्य सरकार द्वारा इस योजना के तहत सभी 101 अनुमंडल में कृषि क्लिनिक खोले जाएंगे।
  • जिसमें राज्य के प्रत्येक अनुमंडल के 2 प्रखंडों में कृषि क्लिनिक की स्थापना की जाएगी।
  • कृषि क्लीनिक खोलने के लिए सरकार इस योजना के अंतर्गत युवाओं को अनुदान का लाभ प्रदान करेंगी।
  • Krishi Clinic की स्थापना हेतु सरकार द्वारा चयनित लाभार्थी को 2 लाख रुपए का अनुदान प्रदान किया जाएगा। साथ ही निशुल्क प्रशिक्षण का लाभ भी मिलेगा।
  • सरकार किसानों को बागवानी और फसलों में कीटनाशकों पर 75% अनुदान का लाभ प्रदान करेगी।
  • बिहार सरकार द्वारा कृषि क्लिनिक योजना के कार्यान्वयन हेतु 424 लाख रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।
  • Krishi Clinic Yojana के संचालन से राज्य में फसलों के उत्पादन, उत्पादकता एवं उत्पाद की गुणवत्ता में वृद्धि होगी। जिससे किसानों की आय में वृद्धि हो सकेगी।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के ग्रामीण स्तर पर 202 युवाओं को रोजगार का अवसर मिलेगा।
  • यह योजना किसानों को फसलों से संबंधित सुविधा उपलब्ध कराकर उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार करेंगी।

UP Kaushal Satrang Yojana

Bihar Krishi Clinic Yojana 2024 के लिए पात्रता

  • बिहार कृषि क्लिनिक योजना का लाभ पाने के लिए आवेदक को बिहार राज्य का मूल निवासी होना चाहिए।
  • केवल वे लोग जिन्होंने राज्य या केंद्रीय विश्वविद्यालय या किसी अन्य विश्वविद्यालय से कृषि स्नातक, कृषि व्यवसाय प्रबंधन स्नातक और कृषि विकास में स्नातक पूरा किया है, वे ही इस योजना के लिए पात्र होंगे। इस योजना का लाभ केवल उन्हीं को मिलेगा जो आईसीएआर या यूजीसी से मान्यता प्राप्त हैं।
  • इसके अलावा, उपायुक्त की अनुपलब्धता की स्थिति में, कृषि बागवानी में न्यूनतम 2 वर्ष का अनुभव या डिप्लोमा धारक या कृषि में इंटरमीडिएट और रसायन विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, जीव विज्ञान में स्नातक वाले उम्मीदवार इस योजना के लिए पात्र होंगे।
  • आवेदक का बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।

आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • योग्यता दस्तावेज
  • जमीनी दस्तावेज
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो

बिहार कृषि क्लिनिक योजना के तहत आवेदन कैसे करें?

यदि आप बिहार राज्य के किसान हैं और बिहार कृषि क्लिनिक योजना का लाभ पाने के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपको थोड़ा इंतजार करना होगा। क्योंकि यह योजना अभी तक बिहार सरकार द्वारा लागू नहीं की गई है। न ही इस योजना के तहत आवेदन से जुड़ी जानकारी सार्वजनिक की गई है. जैसे ही सरकार द्वारा कृषि क्लिनिक योजना शुरू की जाएगी हम आपको इस लेख के माध्यम से सूचित करेंगे ताकि आप इस योजना के तहत आवेदन कर सकें और लाभ प्राप्त कर सकें।

Bihar Krishi Clinic Yojana FAQs

बिहार कृषि क्लिनिक योजना क्या है?

बिहार सरकार द्वारा किसानों को फसल उत्पादन से संबंधित सभी सेवाएं एक ही छत के नीचे मुहैया कराने के लिए कृषि क्लिनिक योजना को शुरू किया गया है। जिससे किसानों को कृषि से संबंधित सभी सुविधाएं स्थानीय स्तर पर मिल सकेगी।

Krishi Clinic Yojana के तहत राज्य में कितने कृषि क्लिनिक खोले जाएंगे?

Krishi Clinic Yojana के तहत सरकार द्वारा राज्य के सभी 101 अनुमंडल में कृषि क्लिनिक खोले जाएंगे।

कृषि क्लीनिक की स्थापना हेतु सरकार द्वारा क्या क्या लाभ दिए जाएंगे?

कृषि क्लीनिक की स्थापना हेतु सरकार द्वारा 40% या अधिकतम 2 लाख रुपए की सहायता राशि अनुदान के रूप में प्रदान की जाएगी। इसके अलावा निशुल्क प्रशिक्षण और लाभार्थियों की इच्छा अनुसार बीज, कीटनाशक लाइसेंस, उर्वरक, कस्टम हायरिंग सेंटर सहित अन्य आवश्यक योजनाओं का लाभ देने में भी प्राथमिकता दी जाएगी।

बिहार सरकार द्वारा कृषि क्लिनिक योजना के संचालन हेतु कितने रुपए की स्वीकृति प्रदान की गई है?

बिहार सरकार द्वारा कृषि क्लिनिक योजना के संचालन हेतु 424 लाख रुपए की स्वीकृति प्रदान की गई है। 

Leave a Comment