Chodkar Jane Wali Shayari / छोड़ कर जाने वाली शायरी

Chodkar Jane Wali Shayari / छोड़ कर जाने वाली शायरी ज़िन्दगी में अक्सर ऐसा होता है जिनको हम चाहत है वो हमसे दूर चले जाते है। ये दर्द ऐसा है की हमें बहुत रुलाता है और हम कुछ नहीं कर पाते। दो प्यार करने वाले एक होकर भी एक नहीं हो पाते। जो लोग प्यार में नाकाम हो जाते है वो बहुत परेशां होते है उनका तो पता ही नही क्या ही हाल होता होगा। कुछ फासले इतने भढ़ जाते है जिन्हे तै करना मुश्किल हो जाता है।और हम चा हां कर भी कुछ नहीं कर पाते कभी तो छोड़ कर जाने वाले सोचते नहीं है लेकिन एक वक़्त ऐसा अत है की वो भी परेशां हो जाते है क्यू की दूर जा कर जब अपना कोई नहीं मिलता या कोई आप को आप की तरह छोड़ जाता है तब उनको एहसास होता है की किसी को छोड़ कर जाना बहुत आसान होता है|

लेकिन जब हमे कोई छोड़ कर चलता जाता है जब हमारा दिल दिमाग काम करना बंद करदेता है तब हमे लगता है की हमने भी एस ही किया था इस लिए मेरे दोस्तों कभी किसी से दूर नहीं जाना चाहिये दूर जाना बहुत आसान है लेकिन दूर जा कर रहना बहुत मुश्किल है इस लिए दोस्तों हमे कभी अपनों से दूर नहीं होना चाहिये साथ रहना ही ज़िन्दगी की सब से बड़ी खुशी है और साथ रहने से ही सब मिल सकता है और आज हम अपने दोस्तों के लिए दूर जाने की शायरी पर काम कर रहे है छोड़ कर जाने वाली शायरी ये आप के लिए बहुत काम आएगी आप ये शायरी अपने दोस्तों को शेर कर सकते है juda hone ki shayari

Chodkar Jane Wali Shayari / छोड़ कर जाने वाली शायरी

aasani se dil

तुम्हे छोड़कर चले जायँगे, हर वादा तोड़कर चले जायँगे,
ऐसे मत सोचो तुम हमारे लिए कुछ भी नहीं,
तुम हमारा वजूद ही नहीं हमारी रूह हो।

लोग कहते है की प्यार अगर सच्चा हो तो,
एक दिन लौटकर वापस जरूर आता है,
पर अगर प्यार सच्चा होता,
तो कभी छोड़कर ही नहीं जाता।

वो अक्सर मुझसे पूछा करती थी की,
तुम मुझे छोड़कर तो नहीं जाओगे ना,
काश मेने भी पूछ लिया होता।

छोड़कर जाने के लिए ही सही,
एक दिन लोट कर तो आना।

परेशान क्या हुए हम,
वो अनजान समझ छोड़ गए।

किसी को मानना छोड़ कर देखो,
तुम्हारी उसकी ज़िन्दगी में औकात पता चल जायगी।

कुछ भी जो जाये मगर उसका दिल कभी मत तोडना।
बाते समझना आता है आपको, बस गुस्सा होकर बाते मत करना,
तय है आपका छोड़कर जाना तोह प्यार से यह बात कह कर जाना,
पीछे अपने एक मीठी याद छोड़ कर जाना।

वो रूठा है तो क्या हुआ,
सोच कर उसे अब मनाया जाये,
छोड़कर चला गया तो क्या हुआ,
चलो फिर से उसे अपनाया जाये।

कुछ उसकी बाते सुनी जाये।
कुछ उसे अपनी कही जाये,
गलत फ़हमियों को दूर किया जाये,
और फिर से खुल कर जिया जाये

इतना जो दर्द दिया है तुमने,
क्या उसे भर पाओगे,
या पहले की तरह,
फिर से छोड़ कर चले जाओगे

Chodkar Jane Wali Shayari / छोड़ कर जाने वाली शायरी

mot me kya rakha hai

वो जा रहा है छोड़कर जनाब,
बताओ रास्ता दू या वास्ता दू

छोड़कर मुझे… तनहा तुम रह गए हो,
में तो शायर हु, आज भी तुम्हे लिखता हु

अश्क आँखों से तुम ना बहाया करो।
जान दिल को मेरे ना सताया करो,
सूना सूना लगता है यह जहाँ,
यू मुझे छोड़कर न जाया करो

क्यों गए हमको छोड़कर अकेले,
क्या हमको बताना जरुरी नहीं था

तुम छोड़ कर गए ऐसे मुझे।
जैसे में कोई खराब आदत थी,
और तुम दुनिया के सबसे नेक इंसान

छोड़ कर गई थी किसी दूसरे के लिए,
आज किसी तीसरे के बच्चे की माँ बानी है।

छोड़कर जाने वाला क्या जाने।
की यादों का बोझ कितना भरी होता है।

तुम मेरी अधूरी ज़िन्दगी को पूरा करने आये थे,
और तुम ही मुझे अधूरा छोड़ कर जा रहे हो।

जिसके साथ उम्र भर साथ चलने की कसम खाई थी,
आज वो टूट चूका है, जब भी टूटे दिल को समेटने लगते है,
खुद को बिखरा हुआ पाते है।

बीते लम्हो का इतना सा फ़साना है,
वो तो चले गए हमें छोड़कर,
पर अब मुश्किल है की हमें कहा जाना है

Chodkar Jane Wali Shayari / छोड़ कर जाने वाली शायरी

tumne mujhe chod kar

क्या मिला तुम्हे हमें छोड़कर,
बताना जरा फुर्सत से सोचकर।

यूँ मुझे छोड़कर।
बेवक़्त मोत ना दे

वो हर जगह प्यार की निशानियां छोड़ कर चली गई,
जहाँ से लौट कर कोई नहीं आया।

एक रोज़ तो सबको छोड़कर जाना है
में बे फ़ुज़ूल ही आँखों से मोती बहा रहा था,
जो कभी मिली ही नहीं मुझे
उसे खोने का दुःख मन रहा था।

कहा जायँगे हम तुझे छोड़कर,
तेरे बिन एक मिनट नहीं गुज़रता,
ज़िन्दगी क्या ख़ाक गुज़रेगी।

तेरी हर एक जीत के लिए,
मुझे मेरी हर हार मंजूर थी,
पर तू तो मुझे ही छोड़ कर हर किसी में
मगरूर थी।

हमें छोड़ कर ये ना पूछो
की हमारा क्या हाल है,
हम कल भी कमल थे,
और आज भी कमल है

खाना हो या मोहब्बत।
किसी को ज्यादा दे दो तो
छोड़कर चला जाता है।

ऐ जिंदगी तू ही बता
कैसे प्यार करू तुझे
तेरी हर सुबह मुझे
अपने से और दूर ले जाती है।

आप से दूर हम रह नहीं सकते
और जुदाई आप से सह नहीं सक्त
अब और नहीं रहा जाता आपके बेगैर
दिल की बातें और किसी से कह नहीं सकते।

छोड़ कर जाने वाली शायरी

Chod Kar Jane Wali Shayari

कभी कभी दूर होना पड़ता है
मोहब्बत की गहराईयो को मापने के लिए।

क्या जरुरत है आपको हमसे दूर जाने की
आप तो पास रहकर भी दूरिया बना लेते हो।

हम दोनो के दरमिया दूरिया ना होता
आगर कुछ आपकी मजबूरिया ना होतीं
नहीं तड़पते इतना यू आपके बिना
अगर जमाने की ये बेड़िया ना होती।

हम जानते हैं आप रूठे हो हमसे इस लिए इतना दूर हो
मगर लौट आओ हम बेताब है आपको मनाने के लिए।

दूर जाने का मत कह देना
आगर दूर जाओ तो वजह बता देना
हम खुद चले जाएंगे इतना दूर की
जहां आपकी याद ना आए वो जगह बता देना।

भूल जाने की कोई तो वजह दे दो
दूरिया ऐसे ही कबूल नहीं होती।

अब और दूरी नहीं सह सकते
तेरे साथ जीने को दिल चाहता है
तोड़कर सारी जंजीरो को बस
तुझे बाहो में लेने को दिल चाहता है।

आपकी नज़रो से दूर चले जाएंगे
फिर वापस लौटकर ना आएंगे
अब और गम हम नहीं सह सकते
किसी और को दिल में नहीं बसायेंगे।

हर जगह तेरा इंतजार करुंगा
सारी दुनिया से इज़हार करुंगा
यू तन्हा छोडकर मत जा तू मुझे
तुझे हद से ज्यादा प्यार करुंगा।

आंखों को सुकून मिलता है
जब तुम सामने होती हो
तुम्हारे दूर चले जाने से
आँखों में नमी रहती है।

छोड़ कर जाने वाली शायरी

chod Kar Jane Wali Shayari

आप भले ही हमसे दूर चले गए हो
मगर दिल से कैसे जाओगे।

वो सपना मत देखो जो टूट जाए
वो हाथ मत थामो जो छुट जाए
मत आने दो ऐसे लोगो को इतना करीब की
उनके दूर जाने से शक़्स अंदर से टूट जाए।

अगर दूर जाने का शौक है तो चले जाओ
याद रखना पीछे मुड़के देखना हमें भी नहीं आता।

तुमसे दूर होकर भी इतना प्यार कर लेते हैं
जब करीब आयगे तो कयामत आ जाएगी।

तुझसे दुरी का एहसास हमें रूलाता है
आज कल वक्त हमें कुछ ऐसे आजमाता है
जब भी कोशिश करता हू तुझे भुलाने की
तू और भी ज्यादा दिल के करीब आ जाता है।

कैसी मोहब्बत दी है ऐ खुदा
नाज़दिकिया वो नहीं चाहते और
दुरिया हम नहीं।

अब उनसे दूरिया हमें अच्छी लगती है
झूठी मोहब्बत से अब दिल भर चुका है।

दिल रो रहा है आपके चले जाने से
नहीं आ रहे आप मेरे बुलाने से
माफ़ी माँग लुंगी मैं आपसे
बस एक बार आ जाओ किसी बहाने से।

अगर प्यार करना हो तो तन्हाइयो से करना
क्योकि बिछड़ जाने के बाद बस वही साथ देती है।

वो आजकल हमसे दुरी रखते हैं
मोहब्बत कम ज्यादा नफ़रत रखते हैं
उनकी खुशी का एहसास है मुझे आजकल
क्योकि वो अब हमें अपने दिल के बाहर रखते हैं।

छोड़ कर जाने वाली शायरी

Chod Kar Jane Wali Shayari

मोहब्बत करनी हो तो दूरियो से करना क्योकि
नज़दीकिया हर किसी को नसीब नहीं।

दिल में रहने वाले चाहे
कितना भी दूर चले जाएं
उनके प्यार का एहसास हमें
उनके और करीब ले आता है।

एक आपकी मोहब्बत है जिसके लिए हम जी लेते हैं
आगर कभी बिछड़ने का मन करे तो हमें मार कर जाना।

उनकी तरफ से कभी मोहब्बत दिखाई नहीं गई
चोट ऐसी लगी दिल पर की कभी मिटाई नहीं गई
फिर भी हम उनसे दूर होना नहीं चाहते थे
मगर उनसे दूरिया इतनी थी की मिटाई नहीं गई।

खुदा जाने आपसे कितने दूर हैं हम
बस अकेले रहने को मजबूर है हम
सजा ऐसी की मिल नहीं सकते आपसे
बस इतना जान लो बेकसूर है हम।

जो लोग दूरिया बनाना जाते हैं
उनके करीब जाना बोहोत मुश्किल होता है।

उनसे मिलना बिछड़ना हमारा नसीब था
जितनी दूर चला गया वो उतना ही करीब था
हम तो बस तरस्ते रहे उनके दीदार को
क्योकि उन्हीं से हमारा खुश नसीब था।

नसीब तो देखो दुरी भी उनसे मिली
जिनके करीब रहने की हमारी आदत थी।

थोड़ी बेचैनी सी लग रही है
दिल की धड़कने बढ़ रही है
पास तो है वो मेरे आज कल
मगर दिल से दूर जा रही है।

अपने से नज़दीकिया बनाकर रखना
क्योकि दूरिया बोहोत तकलीफ देता है।

हर पल हम आपके साथ है
दूर होके भी आपके बोहोत पास है
आप हो ना हो यहा आपकी कसम
आपकी कमी का एक एक पल एहसास है।

छोड़ कर जाने वाली शायरी

Chod Kar Jane Wali Shayari

एक दुरिया ही है जो हमें सिखाती है
की नज़दीकिया क्या होती है।

जहां आपके प्यार की कदर ही ना हो
वहा से तो दूर चले जाना ही बेहतर है।

अगर तुमने मुझसे दूर जाने का
फैसला कर ही लिया है तो ठीक है
मगर याद रखना हर शक्स
मोहब्बत नहीं करता।

वो दूर जा रहे हैं धीरे-धीरे
मुझे रूला रहे हैं धीरे धीरे
शायद उनको ये एहसास नहीं है कि
मेरी जान जा रही है धीरे-धीरे।

आप तो जिंदगी भर साथ निभाने की बात करते थे
और अब तो आपको देखना भी नसीब नहीं होता।

गलती तो हर कोई करता है
मगर जिनको जाना होता है
उनको एक बनाना मिल जाता है।

फितरत हमारी कभी बुरी ना थी
तूने हमें अकेला छोडकर बदनाम कर दिया।

बड़ी अजीब दास्ता है मेरे फसाने की
पल पल कोशिश की उनसे फासले मिटाने की
किस्मत थी या फिर कोई शाजीश जमाने की
दूर हुए इतना जितनी उम्मेद थी उनके करीब जाने की।

वो हर वक्त बहाने ढूंढते हैं मुझसे दूर जाने के
मगर हम मोहब्बत में थे उनकी मुश्किल आसान कर दी

किसी के दूर चले जाने से
मोहब्बत कुम नहीं होती
दिल में भी वही रहता है और
मोहब्बत में भी वही

छोड़ कर जाने वाली शायरी

तुमने भले ही दूर जाने का फैसला कर लिया हो
मगर मुझे अपने दिल से मत निकलना कभी।

आज कल उनके दिल में कोई और रहने लगा है
क्योकि उनको हमसे दूर रहना अच्छा लगने लगा है।

चांद की चांदनी में ये कैसा सुरूर होता है
हम जिसको चाहते हैं वो शक़्स हमसे दूर होता है।

अब दूर जाने का वक्त आ गया
क्योकि फासला इस बार दिलो का है।

जिनके साथ जीने की ख्वाइश थी
हमें तो उन्होंने ही मार डाला।

तुम हमसे दूर तो चले जाओगे
क्या हमें दिल से निकाला पाओगे।

मोहब्बत इतनी करली उनसे की अब डर
मरने का नहीं उनसे बिछड़ने का है।

भले ही आप हमसे रूठ जाओ
मगर दूर जाने की बात मत करना
हम ये गम सह नहीं पायेंगे।

अक्सर वो छोडकर चले जाने की बात कहते थे
हम ही ना समझ थे जो उनके दिल की बात ना जान सके।

ये कैसा इम्तिहान ले रहे हो
आपसे दूर हम नहीं रह सकते।

छोड़ कर जाने वाली शायरी

Chod Kar Jane Wali Shayari

तुमसे दूर रहकर ऐसे वक्त गुजरा है
एक लफ्ज भी ना निकला बस तुझे ही पुकारा है।

तुझसे दूर रहना लगता है कि
कोई सज़ा काट रहे हो
एक बार आकार मुझे आज़ाद कर दो।

उनकी मोहब्बत में कोई कमी ना थी
बस उनका चले जाना हमें रास ना आया।

तुमसे दूर जाना पड़ा मुझे
तुमने मोहब्बत के शिवा सब कुछ दिया।

जब भी दुआ मांगते हैं रब से
तेरा ज़िक्र आ ही जाता है फिर
चाहो आरसे हो गए हो हमें बिछड़े

दिल से निकाल सको को निकाल देना
फिर हमसे दूर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

तेरा चले जाना एक ख़्वाब सा लगता है
तुझे आज भी हम दिल से मोहब्बत करते हैं।

जब चाहा आ जाती हो
जब चाहा दूर जाती हो
क्या समझ रखा है हमें
ये खेल नहीं मेरी मोहब्बत है।

Leave a Comment