Dhoka Bewafa Shayari / धोका बेवफा शायरी

Dhoka Bewafa Shayari / धोका बेवफा शायरी दोस्तों आज हम लेकर आये है बहुत ही बेहतरीन दिल छु जाने वाली धोका बेवफा शायरी दोस्तों दुनिया इतनी बड़ी है की किसी न किसी से प्यार हो ही जाता है और उसी के साथ साथ हमारे कितने दोस्त है जिनको प्यार भी हुआ और प्यार में धोका भी मिला धोका बहुत ही जान लेवा होता है इसका दर्द इतना होता है की बताया नहीं जा सकता जिसको धोका मिलता है बस वो ही जनता है इस धोके के दर्द को सुना है इंसान खाना पीना भी भूल जाता है बैरागी सा हो जाता है उसको कुछ समझ नहीं आता परेशान पागल बना फिरता है इस लिए दोस्तों अगर किसी से प्यार करो तो सच्चा प्यार करो वर्ण किसी की ज़िन्दगी से मत खेलो हमारी ज़रासी गलती या जरासा मतलब किसी की लाइफ बर्बाद कर सकता है और मेरा उन दोस्तों से कहना है की अगर आप को भी प्यार में धोका मिला है तो अपने आप को थोड़ा टाइम देने की ज़रूरत है क्यू की इंसान धोके स्व वो चीज़ सीखता है जो कही भी नहीं सीखाी जाती है बस अपने आप को समल ने की ज़रूरत रहती है क्यू की इंसान जब धोका खाता है या तो वो बन जाता है या फिर बर्बाद हो जाता है जो जल्दी में फैसले लेते है वो बर्बाद हो जाते है वो सोच समझ कर चलते है वो बन जाते है इस लिए मेरे दोस्तों ह्यूमे कोई भी गलती नहीं करनी है अपने आप को टाइम देना है और फिर खुद को उस काबिल बनाना है की जिसने हमे धोका दिया उसको ज़िन्दगी भर पछतावा हो अपनी गलती का और आज हम आपके लिए एक ऐसी शायरी लेकर आये है जिसे आप को अपने आप को समलने में मदद मिलेगी आज हम लेकर आये है धोका बेवफा शायरी इस में हमे एक से बढ़ कर एक बेहतरीन शायरिया जमा की है आप के लिए और हम इन शायरियो को अपने whatsap facebook insta imo कही पर भी स्टेटस लगा सकते है और अपनी फीलिंग्स अपने दोस्तों अपने रिश्तेदारों में भी सजा कर सकते है चले फिर देखते है ये बेहतरीन शायरिया mera dard shayari in hindi

Top 150+Dhoka Bewafa Shayari / धोका बेवफा शायरी

Dhoka Bewafa Shayari

हमने तो मोहब्बत छोड़ दी पर कमबख्त
मोहब्बत ने हमे कहीं का
नहीं छोड़ा

बड़े किस्मत वाले होते है वो लोग जिनको प्यार
और दोस्ती में धोखेबाज़ी का शिकार
नहीं बनना पड़ता है !

अगर दुनिया में जीने की चाहत ना होती;
तो खुदा ने मोहब्बत बनाई ना होती;
लोग मरने की आरज़ू ना करते;
अगर मोहब्बत में बेवाफ़ाई ना होती

फिर कोई ज़ख्म मिलेगा तैयार रह ऐ दिल
कुछ लोग फिर पेश आ रहे हैं
बहुत प्यार से

इश्क़ में किनारा पाना आसान नहीं,
हर लहर यहाँ धोखे की
उठती हैं

बोली थी कि कुछ नही दे पायेगी मुझे,
फिर भी जाते वक़्त धोखा
दे गई !

उस इंसान को धोखा मत देना,जो
आपके लिए अपनी आदतें
बदल ले !

ज़िंदगी सँवारने के लिए ज़िंदगी में
धोखा खाना बहुत
जरुरी है !!

अरे साहब
हम तो इस बात का शुक्र मनाते है,धोका
देने वालों मे नहीं,धोखा खाने
वालों मे आते है !

धोखा देती है अक्सर मासूम चेहरे की चमक
हर काँच के टुकड़े को हीरा
नहीं कहते !!

यूँ अकेले तनहा रहने की आदत नहीं थी,
मगर जबसे इश्क़ ने धोखा दिया है ये
सब आम हो गया है !!

तुम्हारी नफरत पर भी लुटा दी ज़िंदगी हमने,
सोचो अगर तुम मोहब्बत करते तो
हम क्या करते !!

एक वो है जो अपनी मर्ज़ी से बात करते है और
एक हम है जो उनकी मर्ज़ी का
इंतज़ार करते है !

Jao Ab Khush Raho Tum

Dhoka Bewafa Shayari

इश्क सच्चा मिले या ना मिले,दर्द सच्चा मिलता है,
इश्क न करना बस धोखा
मिलता है !

मत पूछ ज़िंदगी कैसे गुजरती है तन्हाई में,
आँखों से बरसते हैं आँसू उनकी जुदाई में,
न जाने किस जुर्म की सजा मिली है मुझे,
बहुत रोता है दिल मेरा उनकी बेवफ़ाई में !!

धोखा भी माफ़ किया जा सकता हैं,
बशर्ते मज़बूरी में दिया हो !!

मैंने उनसे प्यार किया यह मेरे प्यार की हद थी
मैंने उनपे ऐतबार किया यह मेरे चाहत की हद थी
मर कर भी खुली रही मेरी आँखें
यह मेरे इंतजार की हद थी!

पत्थर से दिल लगाने से पहले देख लेते
की वो धड़क रहा हैं की नहीं, उनपर
ऐतबार ना करते हम अगर तो
जिंदगी में ठोकर न खाते हम कभी !!

उनकी आखों में इस कदर नूर हैं
की उनके ख्यालों में रोना भी मंजूर हैं
बेवफ़ा भी नहीं कह सकते उन्हें क्योंकि
प्यार तो हमने किया था वो तो बेकसूर हैं !!

मोहब्बत ने हमपर ये इल्जाम लगाया है
वफ़ा कर के भी बेवफा का नाम पाया है
राहे अलग नहीं थी हमारी फ़िर भी
हमने अलग अलग मंज़िल को पाया है !!

न जाने उनकी क्या मजबूरी थी ,जो छोड़ गए हमे ,
किस्मत ने कहा इसमें उनकी कोई ,कसूर नही ,
ये कहानी तो मैने लिखी ही अधूरी थी !!

हम तो आए थे दिल की महफिल सजाने ,
तेरी कसम तुझें अपना बनाने ,
किस बात की सजा दी तूने हमको बेवफा ,
हम तो तेरे दर्द को अपना बनाने आए थे !!

न जाने हमसे क्या खता हुई
सारी खुशिया हमसे जुदा हुई ,
अनजाने में बेवफा से दिल लगा बैठे ,
वही सजा हैं हमें हम धोखा का बैठे !!

तुम्हारे नाम को होंठो पर सजाया है मैने ,
तुम्हारी रूह को अपने दिल में बसाया है ,
ये दुनिया आपको ढूढ़ते ढूढ़ते हो जायगी ,
पागल दिल के ऐसे कोने में छुपाया है मैने !!

प्यार में धोखा बेवफा शायरी
मोहब्बत मुझे थी उसी से सनम ,
यादों में उसकी दिल तड़पता रहा ,
मौत भी मेरी चाहत को रोक न सकी ,
कब्र में भी यह दिल धड़कता रहा !

Humne Use Moka Diya Usne Dhoka

Dhoka Bewafa Shayari

इश्क मोहब्बत तो सब करते है ,
गम ऐ जुदाई से सब डरते है ,
हम तो न इश्क करते है न मोहब्बत ,
हम तो बस आपकी एक मुस्कुराहट ,
पाने के लिए तरसते है !!

माना की तुम जीते हो जमाने के लिए ,
एक बार जी के तो देखो हमारे लिए ,
दिल की क्या औकात आपके सामने ,
हम तो जान भी दे देंगे आपको पाने के लिए !!

फिजा में महकती शाम हो तुम ,
प्यार में झलकता जाम हो तुम ,
सिने में छुपाये फिरते है चाहत तुम्हारी ,
तभी तो मेरी जिंदगी का दूसरा नाम हो तुम !!

इश्क के रिश्ते कितने अजीब होते है ,
दूर रहकर भी कितने करीब होते है ,
मेरी बर्बादी का गम न करो ,
ये तो अपने अपने नसीब होते है !!

साथ रोती थी ,
साथ हसा करती थी ,
एक परी मेरे दिल में बसा करती थी ,
किस्मत थी हम जुदा हो गए ,
वरना वो मुझे अपनी तकदीर कहा करती थी !!

ऐसा जगाया आपने की अब तक ना सो सके ,
यूं रुलाया आपने की महफिल में हम ना रो सके ,
ना जाने क्या बात है आप में सनम ,
माना है जबसे तुम्हें अपना किसी के ना हम हो सके !!

लाख बंदिशे लगा दे यह दुनिया हम पर ,
मगर दिल पर काबू हम कर नही पाएंगे ,
वो लम्हा आखिरी होगा हमारी जिंदगी का
जिस पल हम इस दिल से तुम्हें भुल जाएंगे !!

टूटे हुए सपनों और छूटे हुए अपनों ने मार दिया ,
वरना ख़ुशी खुद हमसे मुस्कुराना
सीखने आया करती थी !!

हम जिंदा है या मुर्दा ये समझने में धोखा कहा
जाती है मौत अक्सर हमारे पास से
होकर गुज़र जाती है !!

प्यार के मैसेज धोखा शायरी लव
धोखा खाए इन्सान को टूटने के लिए नहीं
बल्कि खुद को समेटने के
लिए हिम्मत चाहिए !!

कौन है इस जहां में जिसे धोखा नही मिला
शायद वही है जिसे मौका नहीं मिला !!

एक लड़का एक लड़की को किसी और लड़की या
लड़के के लिए छोड़ देता है यह सिलसिला चलता
रहता है और जो लोग सच्ची मोहब्बत करते है उनके
लिए यह दर्द सहना नामुमकिन हो जाता है ऐसा लगता
है जैसे सिर्फ कुछ पलों में दुनिया ख़तम होने वाली है !

धोका बेवफा शायरी

Dhoka Bewafa Shayari

किसने कहा दूर होने में इश्क की हार है जो
प्यार पूरा न हुआ आखिर वो भी तो प्यार है !!

प्यार में ऐसा दर्द मिला जिसकी कोई दवा नहीं,
फ़िर भी हँस रहा हूँ ,उस बेवफा से कोई गिला नहीं,
और कितना रोऊ उसके लिए जो मेरा हैं ही नहीं
किस्मत तो देखो चाहा उसको जिसे ख़ुदा ने तकदीर
में लिखा नहीं !!

माना मेरा प्यार एकतरफा था ,
गुनाह भी मेरा था इसलिए दर्द भी मुझे मिला ,
पर बस इतना बता दे ऐ ख़ुदा जब वो पहले ही किसी और ,
के थे तो मोहब्बत में बलिदान हम क्यों हुए !!

जिंदगी में हमे दुःख दिल टूटने पर उतना ,
नही होता जितना विश्वास टूटने पर होता ,
है क्योंकि हम किसी पर विश्वास करके ही ,
अपना दिल उन्हें देते है !

उगता हुआ सूरज दुआ दे आपको ,
खिलता हुआ फूल खुशबू दे आपको ,
हम तो कुछ देने के काबिल नही है ,
देने वाला हजार खुशियाँ दे आपको !

कुछ लुटकर कुछ लुटाकर लौट आया हूँ ,
वफा की उम्मीद में धोखा खाकर लौट आया हूँ ,
अब तुम याद भी आओगी फिर भी न पाओगी ,
हँसते लबों से ऐसे सारे गम छुपाकर लौट आया हूँ

धोखा मिला जब प्यार में जिन्दगी में उदासी छा गई ,
सोचा था छोड़ देगे इस राह को कम्बख्त मोहल्ले
में दूसरी आ गई

अभी सूरज नही डूबा ज़रा शाम होने दो,
मैं खुद लौट जाऊँगा मुझे नाकाम तो होने दो ,
मुझे बदनाम करने का बहाना ढूढता है जमाना ,
मैं खुद हो जाऊँगा बदनाम पहले मेरा नाम तो होने दो !

इन आँखों में आंसू आए न होते अगर वो पीछे से मुस्कुराये न होते ,
उनके जाने के बाद बस यही गम रहेगा की काश वो
हमारी जिंदगी में आए न होते !

कदम कदम पर बहारो ने साथ छोड़ा ,
जरूरत पड़ने पर यारों ने साथ छोड़ा ,
वादा किया सितारों ने साथ निभाने का,
सुबह होने पर सितारों ने साथ छोड़ा !

यूँ तो हर दिल में एक कोशिश होती है ,
हर कोशिश में एक ख्वाहिश होती है ,
मुमकिन नही सभी के लिए ताज महल ,
बनाना लेकिन हर दिल में एक मुमताज होती!

आपके प्यार ने दिया सुकून इतना
की आपके सिवा ना कोई प्यारा लगे
बेवफाई करनी है तो इस तरह से करना
की आपके बाद कोई बेवफ़ा ना लगे !

Dhoka Hee Dena Tha To Bata Dete

Dhoka Bewafa Shayari

बेवफ़ा है दुनिया किसी का ऐतबार ना करो,
हर पल देते है धोखा किसी से प्यार ना करो,
मीट जाओ बेशक तन्हा जी कर,
पर किसी के साथ का इंतजार ना करो !

हँसी की राह में गम मिले तो क्या करे,
वफ़ा के नाम पर बेवफ़ा मिले तो क्या करे,
कैसे बचे जिंदगी में धोखे बाजों से ,
कोई हँस के धोखा दे तो हम क्या करे!

मिलने की आस तन्हाई होती है ,
वफ़ा की आस बेवफ़ा होती है ,
दिल में जीने की उमंग समाई होती है ,
पता नहीं किसको क्या मिले ,
क्योंकि किस्मत रब की बनाई होती है !

बेवफाई उसकी मिटा के आया हूँ
उसका ख़त पानी में बहा के आया हूँ
कोई पढ़ ना ले उस बेवफ़ा की यादों को
इसलिए पानी में भी आग लगा कर आया हूँ !

जो वादा किया है वो निभाना होगा
एक दिन लौट कर तुम्हें आना होगा !!

धोखा देकर कोई नहीं बचता
किसी न किसी की दर्द
जिंदगी तबाह कर ही देती है !

वो नहीं आती पर निशानी भेज देती है
ख़्वाबो में दास्ता पुरानी भेज देती है
कितने मीठे है उसकी यादों के मंजर कभी
कभी आँखों में पानी भेज देती है !

प्यार कर के किसी को धोखा मत देना ,
दोस्तों को आंसुओ का तोहफ़ा नहीं देना

बस जीने की कुछ वज़ह होनी चाहिए,
वादे ना सही, साथ ना सही,
यादें तो होनी चाहिए !

धोखा खाए इंसान को टूटने के लिए नहीं
बल्कि खुद को समेटने के लिए
हिम्मत चाहिए !!

प्यार करने का हुनर हमें नहीं आता,
इसलिए प्यार की बाज़ी हम हार गए,
हमारी जिंदगी से उन्हें बहुत प्यार था,
शायद इसीलिए वो हमें ज़िंदा
ही मार गए !!

धोखा दिया था जब तूने मुझे,जिंदगी से मैं नाराज था,
सोचा कि दिल से तुझे निकाल दू , मगर कंबख्त
दिल भी तेरे ही पास था !!

पल पल उसका साथ निभाया हमने
उसके एक इशारे पे दुनिया छोड़ जाते हम
समुंदर के बीच में पहुँच कर फरेब किया उसने
वो कहती तो किनारे पर ही डूब कर मर जाते हम !

Dhoke Baaz Hai Duniya

Dhoka Bewafa Shayari

मैंने उनसे प्यार किया,यह मेरे प्यार की हद थी,
मैंने उनपे एतबार किया,यह मेरे एतबार की हद थी,
मर कर भी खुली रही मेरी आँखें, यह मेरे इन्तेजार की हद थी!!!

दिल के दर्द को दिखाना बड़ा मुश्किल है
धोखा खा कर बताना बड़ा
मुश्किल है!!

अगर मिले प्यार में बेवफाई तो गम ना करना,
आँखे अपनी किसी के लिए नम ना करना,
करने दो लाख नफरते उसे तुमसे,
पर तुम अपना प्यार कभी उसके
लिए कम न करना !!

सच्चा इश्क किया है तो अब बेवफाई के गीत हम ही गायेंगे,
बेवफाई में तेरा नाम न उठे इसलिए हम आंशु
लेकर हर शहर में मुस्कुरायेंगे !!

बड़ी हसीन थी ज़िंदगी जब ना किसी से मुहब्बत ना किसी से नफ़रत थी!
ज़िंदगी में एक मोड़ ऐसा आया मुहब्बत उससे हुई और
नफ़रत सारी दुनिया से हो गयी !!

कमबख्त दिल को अग़र इश्क़ में लगाओगे,
लिख के ले लो धोखा ज़रूर पाओगे !!

साथ रहना था ही नहीं तो तुमने हमसे नाता क्यों जोड़ा.
हमे धोखा देकर तुमने हमे कही का
नहीं छोड़ा !!!

ढूढने पर वही मिलेंगे जो खो गये थे,
वो कभी नही मिलेंगे जो
बदल गये हैं!!!

दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बैठे,
यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बैठे,
वो हमे एक लम्हा न दे पाए अपने प्यार का,
और हम उनके लिए जिंदगी लूटा बैठे !!

कदम कदम पर बहारो ने साथ छोडा ,जरुरत पड़ने पर यारों
ने साथ छोड़ा,वादा किया सितारोँ ने साथ निभाने का,सुबह होते
ही सितारो ने साथ छोड़ा !

अनजाने से दिल लगा बैठे हम,इस प्यार में धोखा खा बैठे हम ,
उनसे क्या गिला करे, अरे भूल तो हमारी ही थी,जो बिना
दिल वालों से दिल लगा बैठे हम !

प्यार करके किसी को धोखा नही देना,दोस्तों को आंसुओ का तोहफा
नही देना, कोई रोये आपको याद करके,जिंदगी में कभी
ऐसा मौका नही देना

Pyar Dhoka Shayari

Dhoka Bewafa Shayari

प्यार के उजाले में गम का अँधेरा क्यों है,जिसको हम चाहे वही
रुलाता क्यों है, मेरे रब्बा अगर वो मेरा नसीब नहीं तो,
ऐसे लोगो से हमें मिलाता क्यों है

उसकी चाहत से इकरार ना करते,उसकी कसमो का ऐतबार ना करते,
अगर पता होता हम सिर्फ मजाक है उसके लिए,कसम से
जान दे देते पर प्यार ना करते !

कैसे बयां करू अलफ़ाज़ नहीं है दर्द का तुझे मेरे अहसास
नहीं है पूछते हो मुझसे क्या दर्द है मुझे दर्द ये है की
तू मेरे पास नहीं है !

नज़र और नसीब में भी क्या इत्तफ़ाक़ है
नज़र उसे ही पसंद करती है जो नसीब में नही होता

टूट कर चाहना और फिर टूट जाना
बात छोटी है मगर जान निकल जाती है

कितना मुश्किल है मोहब्बत की कहानी लिखना
जैसे पानी से पानी पे पानी लिखना

सबसे ज्यादा दर्द तब होता है
जब हम अपना दर्द किसी को
बता नहीं पाते।

धोखा वही देता है जो सबसे अपना होता है
और विश्वास तब अपनों से
उठ जाता है

इस क़दर भर गया झूठे लोगो से ये जहां, बाहर से मासूम और
अंदर से ज़हरीले क्या अंदाज़ा लगाए उनके नकलीपन
का जनाब, आज वो यहाँ है तो कल वहाँ !

मालूम है अब भी वो मोहब्बत करता है मुझसे ,
वो थोड़ा-सा ज़िद्दी है मगर धोखेबाज़
नहीं !

धोखे और ज़ख्म कम हो गए हैं
अपनों से जो दूर हम हो गए हैं !

गलती मेरे अपनों की नहीं मेरी है माना कि उन्होंने
धोखा दिया मगर उन पर आँख बंद करके
भरोसा तो मैंने किया था !

Jivan Bhar Sath Nibhane Ki Kasme

Dhoka Bewafa Shayari

तुमने कहा था रूठूँ अगर मैं तो मना लेना तुम,
मग़र शायद रूठे नहीं बदल गए हो तुम !

प्यार में अक्सर हार जाते है लोग,सजा के नाम पर याद दे जाते
है लोग, बस अपनी ख़ुशी के लिए दूसरो को बेपनाह
धोखा दे जाते है लोग !

धोखे की भी एक खासियत होती है,
की वो अक्सर किसी खास से ही मिलता है !

मतलब की इस दुनिया में किसे धोखा नहीं मिलता,
ईमानदार तो सिर्फ वही है यहां जिसे
मौका नहीं मिलता !

अर्ज़ किया है मेरी शायरी में अब भी बहुत दर्द की कमी है!!
शायद फिर से तेरे धोखे का इंतज़ार है
मेरे इस दिल को !!

विश्वास करू भी तो किस पर करूं अब
हर कोई धोखा देने की आरज़ू
लिए बैठा हैं !

और कोई तकलीफ देता तो गुस्सा आता है ,
मगर कोई अपना तकलीफ दे तो
रोना आता है!

वो ज़ख्म आसानी से नहीं भरते,
जिनमे शामिल हो खुद के रिश्ते !!

तेरी बेवफाई का किस्सा जब-जब याद आएगा, मेरे तन बदन में एक
आग सी भड़कायेगा, जो तूने किया कोई दुश्मन भी नहीं
ऐसा करता देख लेना एक दिन तू भी
बहुत पछतायेगा

ना जाने कितने दर्द है जो सब्र बन कर,
नहीं कब्र बन कर उभर रहे है जिंदगी में !

इश्क कहता है मुझे इक बार करके देख,
अगर मौत से न मिलवा दिया तो मेरा
नाम बदल देना !

ये मोहब्बत के हादसे अक्सर,दिलों को तोड़ देते हैं।
तुम मंजिल की बात करते हो,लोग राहों में ही
साथ छोड़ देते हैं

Top Dhoka Bewafa Shayari

Dhoka Bewafa Shayari

धोखा खाने के बाद तुमसे हमें अब समझ आया,
मैने तुमसे नहीं अपनी बर्बादी से
दिल लगाया था !!

जो दिखाई देता है हमेशा सच नहीं होता ,
कहीं धोखे में आंखें हैं तो कहीं आंखों में धोखे हैं !

दुनिया में सबसे ताकतवर इंसान वो होता है।
जो धोखा खा कर भी दूसरों की मदद करना
कभी नहीं छोड़ता है !

पसंद न आये मेरा साथ तो बता देना,
महसूस भी न कर पाओगे
इतने दूर चले जायेंगे !!

आज अलफ़ज़ नहीं मिल रहे थे,
दर्द लिख दिया हूँ महसूस कीजिये।

मुझे किसी ने पुछा दर्द की कीमत क्या है
मैंने कहा मुझे नहीं पता लोग तो
मुझे मुफ्त में दे जाते है !!

किताबों के अलावा जो चीज सबक देती है,
उसका नाम ज़िन्दगी है।

हम अपने दर्द का शिकवा तुमसे कैसे करें,
मोहब्बत तो हमने की है तुम
तो बेकसूर हो।

धोखा भी बादाम की तरह है,
जितना खाओगे उतनी अक्ल आती है!

मुझे छोड़ कर वो खुश है तो शिकायत कैसी
अब उन्हें खुश भी न देखु तो
मोहब्बत कैसी !

पहले इश्क फिर धोखा फिर बेवफाई
बड़ी शिद्दत से एक शख्स ने
तबाह किया मुझे !!

चले जाने दो उस बेवफा को किसी और की बाँहों में,
जो इतनी चाहत के बाद मेरा ना हुआ वो
किसी और का क्या होगा!

धोका बेवफा शायरी

Dhoka Bewafa Shayari

हम किसी के लिए,ज़रूरी तब तक है,
जब तक उन्हें हमारी जगह
कोई और नहीं मिल जाता !!

बार बार माफ तो कियाजा सकता है
पर भरोसा सिर्फ एक ही बार
किया जा सकता है !!

प्यार निभाने के लिए,
मैं हमेशा झुकता रहा,
और तुम इसे मेरी,
औकात समझ बैठे !!

किसी की मजबूरी का मजाक ना बनाओ यारों
ज़िन्दगी कभी मौका देती है तो कभी धोखा भी देती है!!

किसी ने मुझे ? ये सिखा दिया कि ?,
हद से ज्यादा किसी को चाहना बुरी बात

बड़ी ज़ालिम है ये रीत धोकेबाज़ी की
इसमें धोका देने की सजा
धोका देने वाले को नहीं
धोका खाने वाले को मिलती है !!

यहाँ पर अब न कर बात तू मोहब्बत कि साहेब,
हर कोई इस रास्ते से गुजरा हुआ है!!
कुछ ने धोखा दिया हुआ है,
तो कुछ ने धोखा खाया हुआ है!!

अक्सर धोखा वही खाते है
जो जरूरत से ज्यादा किसी पर भरोसा करते है

सब कुछ दिया बस अपना बताना भूल गए,
इस दिल को तेरी जरूरत कितनी है
ये जताना भूल गये।

कितनी ख्वाहिशों के साथ जी रहे थे हम,
उस बेवफा ने धोखा ऐसा दिया प्यार में,
मेरी ज़िंदगी का हर सपना हमसे छीन लिया उसने।

लोग कहते हैं किसी एक के चले जाने से जिन्दगी अधूरी नहीं होती,
लेकिन लाखों के मिल जाने से उस एक की कमी पूरी नहीं होती है !

मेरी तन्हाई को मेरा शौक ना समझना ,
बड़े प्यार से दिया है तोहफा किसी ने !

Dhoka Bewafa Shayari / धोका बेवफा शायरी

यादो का तो अंबार लगा हैं
सच्ची मोहब्बत का व्यापार लगा हैं
जिसके दिल में जो आये वो करे
इश्क के नाम पर तो, बाजार लगा हैं

बिछड़ कर भी बिछड़ा नहीं हु तुमसे
अब तो तभी बिछड़ पाउगा
जब साँसे बिछ्ड़ेगी हमसे .

अपने दिल का दर्द उसे बताना चाहता हु
उसे कितना चाहता हु
उसे महसूस कराना चाहता हु
कितना रोया हु उसे पाने के लिए
उसकी गोद में सर रखकर
उसे बताना चाहता हु !!

तेरी वो तस्वीर तो दीवार से हटा दी गई है मगर,
नजरे मेरी बार-बार वही जाकर ठहर जाती है।

मैंने प्यार जितनी तसल्ली से किया
उसने धोखा भी बहुत मज़े से दिया !

आआ मुझे टूट कर बिखरते देखो
मेरी रगो में जहर उतरते देखो
किस किस अदा से तुझे मांगा है खुदा से
आओ मुझे कभी सजदों मे सिसकते देखो !!

धोखा भी बादाम की तरह है
जितना खाओगे उतनी अक्ल आती है !

वो शख्स बड़ा मासूम था
मोहब्बत से पहले ,
पता नहीं क्यू दिल में बसते ही
धोखेबाज़ हो गया।

खूब देखे होंगे आंसू ख़ुशी के तुमने
कभी मिलो हमसे ,
तुम्हे गम के हसी दिखाएंगे !!

उन्होंने हमे आजमाकर देख लिया ,
एक धोका हमने भी खाकर देख लिया
क्या हुआ हम हुए जो उदास ,
उन्होंने तो अपना दिल बेहलाके देख लिया !!

अब डर नहीं लगता कुछ खोने को
मैने ज़िन्दगी में ज़िन्दगी को खोया है

बिन बात के ही रूठने की आदत है
किसी अपने का साथ पाने की चाहत है
आप खुश रहें, मेरा क्या है
मैं तो आइना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है।

धोका बेवफा शायरी

mudato baad hua

अपने दिल की बात उनसे कह नहीं सकते,
बिन कहे भी जी नहीं सकते,
ऐ खुदा! ऐसी तकदीर बना,कि वो खुद हम से आकर कहे
कि, हम आपके बिना जी नही सकते!!

मोहब्बत से रिहा होना ज़रूरी हो गया है
मेरा तुझसे जुदा होना ज़रूरी हो गया है
वफ़ा के तजुर्बे करते हुए तो उम्र गुजरी
ज़रा सा बेवफा होना ज़रूरी हो गया है।

मोहब्बत जिंदगी बदल देती है
मिल जाए तो भी और न मिले तो भी !!

धोखा देकर कोई नहीं
बचता इस जिंदगी में
किसी ना किसी की बद्दुआ
जिंदगी तबाह कर ही देती है !

हमने भी कभी प्यार किया था,
थोड़ा नही बेशुमार किया था,
दिल टूट कर रह गया जब उसने कहा,
अरे मैंने तो मज़ाक किया था !!

मोहब्बत वो चीज़ है मेरे दोस्त
जो हस्ते हुए को भी रुला देती है।

प्यार निभाने के लिए मैं हमेशा झुकता रहा,
और तुम इसे मेरी औकात समझ बैठे..

लम्हा लम्हा सांसे ख़तम हो रही है ,
जिंदगी मौत के पहलू में सो रही है
उस बेवफा से ना पूछो मेरी मौत की वजह ,
वो तो जमाने को दिखाने के लिए रो रही है ।।

हद से ज्यादा लगाव और मोहब्बत,
दोनों ही जानलेवा हो जाता है अक्सर !!

क्यों बहाने करते हो मुझसे रूठ
जाने के साफ साफ
कह देते दिल में जगह नहीं है
हमारे लिए।

न जाने क्या मासूमियत है तेरे चेहरे पर
तेरे सामने आने से ज़्यादा तुझे छुपकर देखना अच्छा लगता है

एक बार किसी के धोखे से दिल टूट जाए तो
शायद ही फिर जुड़ पाता है।

Top Chahat Bewafa Shayari

koi aur tumhe

तुम्हारे आँसू मोती हैं।
उन्हें धोखा देने वालों के लिए मत बहाओ।
सही व्यक्ति की प्रतीक्षा करें।
क्योंकि आंसू तो तब भी आते हैं,
जब तुम खुश होते हो।

मुझे छोड़ कर वो खुश है तो शिकायत केसी
अब उन्हें खुश भी न देखु तो
मोहब्बत कैसी।

इश्क में इसलिए भी धोखा खानें लगें हैं लोग,
दिल की जगह जिस्म को चाहनें लगे हैं लोग

कहाँ जाकर ढूँढू मैं
उन लोगों को जो
खोए नहीं बदल गए है !!

किसी को इस कदर भी टूट कर मत चाहो की,
एक दिन उसकी चाहत में ही टूट जाओ !!

धोखा देकर ऐसे चले गए
जैसे कभी जानते ही नहीं थी
अब ऐसे नफरत जताते हो
जैसे प्यार को मानते ही नहीं थे

जिसकी गलतियों से भी मैंने
रिश्ते निभाए हैं
उसने बार-बार मुझे फालतू होने का
एहसास दिलाया है !!

उनकी कमी से दिल मेरा उदास है,
पर मुझे तो आज भी उनके मिलने
की आस है,ज़ख़्म नही पर दर्द का
एहसास है,ऐसा लगता है दिल का
एक टुकड़ा आज भी उनके पास है !!

इतना भी नाराज ना हुआ करो हमसे,
हम बदकिसमत जरूर हैं पर Bewafa नही।

जिनकी शायरियो में होती है सिसकिया
वो शायर नहीं, किसी बेवफा के दीवाने होते है !!

हर भूल तेरी माफ़ की,
हर खता को तेरी भुला दिया
गम ये है कि मेरे प्यार का,
तूने बेवफा बनके सिला दिया।

बड़ी अजीब फितरत है अधूरे इश्क़ की,
किसी को तो धोखेबाज़ होना ही पड़ता है।

Mujhe Ye Malum Tha

mujhe ye maloom

पसंद न आये मेरा साथ तो बता देना,
महसूस भी न कर पाओगे
इतने दूर चले जायेंगे।

रिश्ते ईमानदारी से निभाए जाते हैं
झूठ और चालाकी से नहीं ।

जब ना किसी से मोहब्बत ना किसी से नफ़रत थी
जिंदगी में एक मोड़ ऐसा आया मोहब्बत उससे हुई ,
और नफ़रत सारी दुनिया से हो गयी ।।

इस भरी दुनिया में कोई ख़ास ना रहा
गैरों की बात छोड़ो अपनों पर विश्वास ना रहा।

वो भी दिन थे जब तेरी बाहों में बड़े सुकून से सोया करते थे हम।
कुछ भी गम सताता था तो तेरे पास ही आकर रोया करते थे हम।
न जाने किसी नज़र लगी इस बगिया को,
जहाँ हमेशा ही फूल वफ़ा के बोया करते थे हम।

जुदा हमको हालात ने कर दिया है,
ना तू बेवफ़ा है ना मैं बेवफ़ा हूँ।

कोई तुमसा भी काश तुम को मिले
मतलब तो हम को बस इन्तकाम से है!!!

बाते करो मोहब्बत की मगर जरा होश रखना
बड़ा मासूम चेहरा होता है,
इन बेवफ़ाओ का !!

Neeraj Yadav

मैं नीरज यादव इस वैबसाइट (ThePoetryLine.in) का Founder और एक Computer Science Student हूँ। मुझे शायरी पढ़ना और लिखना काफी पसंद है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button