Pran Vayu Devta Pension Scheme 2024: प्राण वायु देवता पेंशन योजना ऑनलाइन आवेदन

Pran Vayu Devta Pension Scheme:- प्राण वायु देवता पेंशन योजना हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खटटर द्वारा शुरू की गई है। इस योजना के तहत राज्य में पुराने पेड़ों के संरक्षण के लिए सरकार द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। राज्य में ऐसे पेड़ जिनकी उम्र 75 वर्ष से अधिक है, उनके रखरखाव के लिए प्राण वायु देवता योजना के तहत सरकार द्वारा 2500 रुपये प्रति माह की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। अगर आप भी हरियाणा के मूल निवासी हैं तो इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन है. इस लेख में हमने Pran Vayu Devta Pension Scheme के तहत आवेदन प्रक्रिया, अशोक दस्तावेज़ पात्रता मानदंड लाभ उद्देश्य आदि जैसी जानकारी प्रदान की है।

Assam Apun Bahan Scheme

Pran Vayu Devta Pension Scheme 2024

हरियाणा राज्य में प्राण वायु देवता योजना की शुरुआत मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी ने की है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में पेड़ों की रक्षा करने वाले नागरिकों को सरकारी आर्थिक सहायता प्रदान करना है। योजना के तहत, जिन पेड़ों की आयु 75 वर्ष से अधिक है, उनकी देखभाल के लिए सरकार हर महीने ₹2500 की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। Pran Vayu Devta Pension Yojana को राज्य के सभी जिलों में शुरू किया गया है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए नागरिकों को ऑफलाइन आवेदन करना होगा।

Check 2BHK Scheme 5th Phase

प्राण वायु देवता पेंशन योजना के बारे में जानकारी

योजना का नामPran Vayu Devta Pension Scheme
किसने शुरू कीCM मनोहर लाल खट्टर
किसके लिए शुरू कीराज्य के नागरिकों के लिए
विभागवन विभाग
उद्देश्यपेड़ो की रक्षा के लिए आर्थिक सहायता
लाभRs. 2500/-
आवेदन प्रक्रियाऑफलाइन

Pran Vayu Devta Pension Yojana का उद्देश्य

प्राण वायु देवता योजना हरियाणा सरकार द्वारा शुरू की गई है। इस योजना को शुरू करने के पीछे सरकार के मुख्य उद्देश्य निम्नलिखित हैं:-

  • पेड़ों की कटाई को रोकने के लिए
  • राज्य में प्राणवायु सुरक्षा प्रदान करने के लिए
  • पर्यावरण की रक्षा करने के लिए
  • वायु गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए
  • बेरोजगारों को रोजगार प्रदान करने के लिए
  • किसानों की आय में वृद्धि करने के
  • पात्र लाभार्थियों को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाने के लिए।

PM Suraksha Bima Yojana 

प्राण वायु देवता पेंशन योजना के तहत करनाल में ऑक्सी वैन

  • चित वन ( सौंदर्य का वन)
  • पाखी वन (पक्षियों का जंगल)
  • अंतरिक्ष वन (राशि चक्रों का वन)
  • तपो वन ( ध्यान का वन)
  • आरोग्य वन ( उपचार / हर्बल वन)
  • नीर वन (झरनों का जंगल)
  • ऋषि वन (सप्त ऋषि)
  • पंचवटी (पांच पेड़)
  • स्मरण वन (यादों का जंगल)
  • सुगंध सुवास / सुगंध वन (सुगंध का वन)

Old Age Vridha Pension KYC

Pran Vayu Devta Pension Scheme के लाभ एवं विशेषताएं

हरियाणा में प्राण वायु देवता योजना की शुरुआत मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी ने की है। इस योजना के अंतर्गत राज्य के नागरिकों को पेड़ों की देखभाल के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। योजना के तहत, जिन पेड़ों की आयु 75 साल से अधिक है, उनकी देखभाल के लिए सरकार हर महीने ₹2500 की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। यह राशि नागरिकों के बैंक खातों में सीधे प्रदान की जाएगी।

इस योजना की शुरुआत सरकार द्वारा राज्य में पेड़ों की कटाई को रोकने, पर्यावरण की रक्षा करने, और प्राण वायु की गुणवत्ता को सुधारने के उद्देश्य से की गई है। इसके अलावा, योजना से राज्य में रोजगार के अवसरों में भी वृद्धि होने की उम्मीद है।

Ration Card Aadhar Link

प्राण वायु देवता पेंशन योजना  के लिए पात्रता मानदंड

केवल वे लोग जो नीचे दिए गए पात्रता मानदंडों को पूरा करते हैं वे ही इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं:-

  • आवेदक हरियाणा राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • योजना के लिए सभी वर्ग के लोग आवेदन कर सकते हैं।

Pran Vayu Devta Pension Scheme के लिए जरूरी दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • स्थायी प्रमाण पत्र
  • जमीनी दस्तावेज
  • बैंक खाता
  • पासपोर्ट साइज फ़ोटो
  • मोबाइल नम्बर

UK India Young Professionals Scheme

प्राण वायु देवता पेंशन योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया

जो भी पात्र नागरिक प्राण वायु देवता योजना के लिए आवेदन करना चाहता है उसे निम्नलिखित चरण दर चरण प्रक्रिया का पालन करना होगा:-

  • योजना के लिए आवेदन करने के लिए नागरिकों को अपने निकटतम वन विभाग कार्यालय में जाना होगा।
  • अधिकारी से प्राण वायु देवता योजना के लिए आवेदन पत्र मांगा।
  • आवेदन पत्र प्राप्त होने पर उसमें पूछी गई सभी जानकारी भरें।
  • सहायक दस्तावेज़ संलग्न करें और आवेदन पर अपना पासपोर्ट आकार का फोटो चिपकाएँ।
  • आवेदन को एक बार फिर से जांच लें और फिर उसी कार्यालय में आवेदन जमा कर दें।

Leave a Comment